सोमवार, 16 अक्तूबर 2017

दीपावली कब, क्यों, कैसे और कहाँ मनाई जाती है

नमस्कार !
हिन्दी में जानो पर आपका स्वागत है। आप सभी को हिन्दी में जानो की पूरी टीम की तरफ से दीपावली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएँ। हम आपको इस पोस्ट मे दीपावली त्यौहार के बारे मे बताएँगे। इस पोस्ट से पहले हमने आपकोहोली कब , क्यों , कैसे , कहाँ मनाई जाती है,रक्षाबंधन का त्यौहार कब क्यों कैसे मनाया जाता हैऔरगणेश जी प्रथम पूजयते क्योंके बारे मे बताया था। दीपावली भारतीय का प्रमुख त्यौहार है। दीपावली को दीवाली भी कहते है, अर्थात रोशनी का त्योहार कहते है यह त्यौहार अंधकार पर प्रकाश की विजय को दर्शाता है। दीपावली 5 दिनों का त्यौहार है।

यह भी पढे

दीपावली कब मनाई जाती है

दीपावली त्यौहार कार्तिक अमावस्या के दिन मनाया जाता है। लेकिन यह त्यौहार 5 दिनों(धनतेरस, नरक चतुदर्शी, अमावश्या, कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा, भाई दूज) का होता है इसलिए यह धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज पर खत्म होता है। दीपावली त्यौहार की तारीख हिन्दू कलेंडर के अनुसार निर्धारित होती है लेकिन यह त्योहार अक्तूबरनवंबर महीने मे आता है।

दीपावली क्यों मनाई जाती है

दीपावली त्यौहार मनाने के कई कारण है जिससे संबन्धित हम आपको नीचे कई कथाये बता रहे है


हिन्दू धर्म में


पहली कथा
हिन्दी ग्रंथ रामायण के अनुसार, दशरथ पुत्र भगवान श्री राम ने अपने वनवास काल मे लंका राजा रावण का वध कर माता सीता को मुक्त कराया था। और जब वे चौदह वर्षों का वनवास पूर्ण कर अपने नगर अयोध्या पहुंचे तो अयोध्यावासियों ने पूरे नगर मे घी के दिये जलाकर उत्सव मनाया था। तभी से हर कार्तिक अमावस्या को दीपावली मनाई जाती है।

दूसरी कथा
जब देवताओं और राक्षसो द्वारा समुन्द्र मंथन चल रहा था तब कार्तिक अमावस्या पर देवी लक्ष्मी क्षीर सागर(दूध का लौकिक सागर) से ब्रह्माण्ड मे आई थी तभी से माता लक्ष्मी के जन्मदिन की उपलक्ष्य मे दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है।

तीसरी कथा
दीपावली के एक दिन पहले को नरक चतुर्दशी कहते है। क्योंकि भगवान श्री कृष्ण ने इस दिन नरकासुर का वध किया था। नरकासुर एक पापी राजा था, यह अपने शक्ति के बल से देवताओं पर अत्याचार करता था और अधर्म करता था। उसने सोलह हजार कन्याओं को बंदी बनाकर रखा था। इसलिए भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर का वध किया। इसलिए इस दिन को नरक चतुर्दशी कहते है और उस दिन से बुराई पर सत्य की जीत पर लोगो ने अगले दिन उल्लास के साथ दीपक जलाकर दीपावली का त्यौहार मनाया।

जैन धर्म मे

कार्तिक कृष्ण अमावस को भगवान महावीर का निर्वाण हुआ था, इसलिए वीर निर्वाण दिवस जैन धर्मानुसार दीपावली पर्व के रूप मे मनाया जाता है।

सिख धर्म मे

वर्ष 1577 मे अमृतसर के स्वर्ण मंदिर की स्थापना भी दीपावली पर ही की गयी। और वर्ष 1619 मे सिक्खों के छठे गुरु हरगोबिन्द सिंह जी को जेल से रिहा दीपावली के दिन ही किया।


दीपावली का त्यौहार कैसे मनाया जाता है

दीपावली का त्यौहार 5 दिनों तक मनाया जाता है। यह धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज पर खत्म होता है। लेकिन दीपावली की तैयारी कई दिनों पहले से शुरू हो जाती है। लोग अपने घरों, दुकानों आदि की सफाई करते है। घरो और अपनी दुकानों आदि की रंगाई-पुताई करते है। बाज़ारों की गलियों को सुनहरी झंडियों आदि से सजाया जाता है। इस तरह दीपावली से पहले ही घर, मोहल्ले, बाजार आदि सब साफ सजे हुए दिखाई देते है। दीपावली 5 दिन का त्यौहार है जिसके बारे मे हम आपको नीचे बता रहे है-

1. पहला दिन (धनतेरस/ धनतृयोदशी) –

धनतेरस का अर्थ है धन+तेरस = धन का अर्थ संपति और तेरस का अर्थ 13वां दिन। अर्थात चन्द्र मास के 2 छमाही के 16वें दिन घर के लिए धन आना। इस शुभ दिन पर लोग सोना-चाँदी, बर्तन आदि खरीदकर घर पर लाते है। यह दिन भगवान धनवंतरी की जयंती के उपलक्ष्य मे मनाया जाता है, जिनकी उत्पति समुद्र मंथन के दौरान हुई।

2. दूसरा दिन (नरक चतुर्दशी) –

नरक चतुर्दशी 14वें दिन आती है। जब भगवान कृष्ण ने नरकासूर का वध कर बुराई की सत्य की जीत पर जश्न मनाया जाता है। इस दिन लोग सूर्योदय से पहले उठकर स्नान करके नए कपड़े पहनते है और अपने घरो मे और आसपास दीपक जलाते है और भगवान श्री कृष्ण की पूजा करते है और पूजा करने के बाद पटाखे जलाते है।

3. तीसरा दिन (अमावस) –

इस मुख्य दिन पर लोग नए कपड़े पहनकर माता लक्ष्मी जी, सरस्वती जी और गणेशजी की पूजा की जाती है। लोग देवी देवता की आराधना कर माता लक्ष्मी से सदा घर मे रहने का निवेदन करते है। इस महान पूजा के बाद घरों और सड़कों पर दीपक और पटाखे जलाए जाते है। इस त्यौहार का महत्वपूर्ण दिन भी यही है।

4. चौथा दिन (गोवर्धन पूजा/शुक्ल प्रतिपदा) –

भगवान कृष्ण द्वारा इन्द्र के गर्व को पराजित करके लगातार बारिश और बाढ़ से बहुत से लोगो और मवेशियों के जीवन की रक्षा करने के लिए भगवान कृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को अँगुली पर उठा लिया था। इसलिए इस दिन लोग अपने गाय-बैलों को सजाते है और गोबर को पर्वत बनाकर पूजा करते है और पटाखे चलाते है। लोग इस दिन अपने रिश्तेदारों से मिलने जाते है।

5. पाँचवाँ दिन (भाई दूज) –

इस दिन त्यौहार भाइयों और बहनों का है। इस दिन यम देवता अपनी बहन यामी से मिलने गए और वहाँ अपनी बहन द्वारा उनका आरती के साथ स्वागत हुआ और यम देवता ने अपनी बहन को उपहार दिया। इस तरह बहन अपने भाइयों की आरती करती है और फिर भाई अपनी बहन को उपहार भेंट करता है।
इस तरह दीपावली का त्यौहार पाँचों दिन हर्षौल्लास के साथ मनाया जाता है।


दीपावली कहाँकहाँ मनाई जाती है

दीपावली का त्यौहार भारत देश मे ही नहीं बाहर विदेशों मे भी मनाया जाता है। दीपावली का त्यौहार दुनिया भर मे हिन्दू, जैन और सिख समुदाय द्वारा मनाया जाता है। श्रीलंका, पाकिस्तान, म्यांमार, थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर, इन्डोनेशिया, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फिजी, मॉरीशस, केन्या, तंजानिया, दक्षिण अफ्रीका, सूरीनाम, त्रिनिदाद, टोबैगो, नीदरलैंड, कनाडा, ब्रिटेन, सयुंक्त अरब अमीरात, सयुंक्त राज्य अमेरिका आदि देशों मे दीपावली का त्यौहार मनाया जाता है। भारतीय संस्कृति की समझ और भारतीय मूल के वैश्विक प्रवास के कारण दीपावली मनाने वाले देशों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। कई देशों मे इस दिन राष्ट्रिय अवकाश रहता है।

यह भी पढे
  1. मोबाइल के SMS देखे कम्प्युटर पर
  2. रु. 350+ के प्रोडक्टस फ्री मे पाये + फ्री होम डिलेवरी
  3. व्हात्सप्प अकाउंट कैसे हैक करे
  4. बिना इंटरनेट फ्री में Calling कैसे करे

##यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इस post को share जरूर करे।

##यदि आपको इस पोस्ट से कोई समस्या हो या हमे सुझाव देना चाहते है तो कृपया आप नीचे Comment करे या हमारा Facebook Group Join करे, ताकि हमारे Group Members भी आपकी help कर सके। हम आपकी हर Comment का Replay देंगे।

##हम आगे और बहुत सारी पोस्ट लिखते रहेंगे, इसलिए हमारी सभी पोस्ट को email पर पढ़ने के लिए हमे Subscribe करे। और हमारा Facebook Page Like  करे और Facebook Group से जुड़े, Whatsapp एवं Hike से जुड़े 7221979769 पर HMJ अपना नाम  लिखकर Whatsapp पर message करे, जैसे- HMJ Pawan, और हमे Instagram, Google+, Twitter पर फॉलो करे और हमारे Youtube Channel को Subscribe  करे या फिर Ctrl+D” बट्टन दबा कर अपने ब्राउज़र मे save करले।

## हिन्दी में जानो Android app डाउनलोड करेक्लिक करे

##ये वैबसाइट आपके लिए मददगार है तो आप इस वैबसाइट के बारे मे अपने दोस्तो को जरूर बताये और Share जरूर करे।
शुक्रिया।

यह भी पढे
  1. घर बैठे जानो अपने बैंक अकाउंट का बैलेन्स
  2. कैसे पता करे कि आपकी WhatsApp Profile किसने देखी
  3. एक Mobile Number से दो Whatsapp चलाये
  4. YepMe Offer – Free Rs.101 on Sign Up+ Rs.101 Per Refer
  5. IMEI नंबर Change कैसे करते है


Tags – Diwali wishes 2017, Diwali Shayari 2017, diwali 2017, diwali, deepawali, diwali shayari, diwali wallpaper, diwali kaise manate hai, diwali wishes, in hindi, diwali kab manate hai, diwali kyo manate hai, diwali festival in hindi, deepawali wiki, diwali wiki in hindi, diwali pictures, diwali images, diwali shopping, diwali kathaye, diwali nibandh, diwali essay in hindi, hindi festivals, india festivals, crackers,

Author:

नमस्कार! हम पवन सुवालका, सुमित सुवालका, रिंकेश जैन इस साइट के फ़ाउण्डर और सीईओ है। हमने इंटरनेट चलाते हुए ये समझा कि इंटरनेट की दुनिया मे हम बहुत कुछ कर सकते है, जैसे साइट बना कर पैसा कमाना, लेकिन कैसे - क्या करना है वो हमे सही से मालूम नहीं होता इसलिए हमने ये वैबसाइट HindiMeJano.Com बनाई है, जिससे हम इंटरनेट की सारी जानकारी आप लोगो तक हिन्दी में पहुँचा सके, और जो इंटरनेट मे बहुत इंटरेस्ट रखते है उन लोगो के लिए ये साइट बहुत उपयोगी है।

2 टिप्‍पणियां: